69000 शिक्षक भर्ती मुद्दा ए कटऑफ लीगल अपडेट की कलम से

#69000_शिक्षकभर्ती मुद्दा ए कटऑफ लीगल अपडेट

आंसर की आने की संभावना फिलहाल नहीं है और टीम का प्रयास भी इसके लिए ना था ना है क्योंकि अभी यह भर्ती पर बेवजह के केस और बढ़ाएगा जो कि उचित नहीं है परिणाम के आस-पास ही आंसर की जारी की जाए अभ्यर्थियों की इस मांग से भी निदेशालय,PNP सचिव और रेणुका MAM को अवगत कराया जा चुका है ।*

जून में सुनवाई के लिए कोर्ट में कानूनी जटिलताओं को दूर करने का प्रयास जारी है लेकिन अभी कोई बड़ी सफलता टीम के हाथ नहीं लगी है क्योंकि शायद आप सबकी और अन्य की अपेक्षा यह दिलचस्पी मेरी निजी बनकर ही रह गई है बाकी सबको जून भर आराम करना है ।*

कटऑफ 60 65 के पक्ष में पेपर कटिंग और तमाम भर्तियों का हवाला केवल पोस्ट में या फिर MSG में देने के बजाय आप सब भी थोड़ा कोर्ट देश भर में किसी भी कोर्ट के ऑर्डर या सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर को ढूंढने का प्रयास कर सकते हैं ।अधिवक्ता लड़ रहे हैं लेकिन कभी कभी कुछ सामान्य चीजें छूट जाती है जो हम सबके द्वारा उपलब्ध करा दी जाएंगी ।

ए और बात अधिवक्ताओं के सम्बंध में जो आपके मन मे भ्रम है वो दूर कर लीजिए :-*

  • मुख्य 4 याचिकाएं जिन पर सीनियर अपीयर हैं
  • 156/2019 राघवेंद्र,शिवेन्द्र एंड others लीडिंग याचिका जिसको अनिल तिवारी जी Represent करते हैं ।
  • 157/2019 सर्वेश एंड others दूसरी याचिका जिसपर कालिया सर प्रतिनिधित्व करते हैं ।

उपरोक्त दोनों अधिवक्ता एक टीम में

इसके बाद दो याचिकाएं जिनमें एक विनय कुमार सिंह जी के नाम से है दूसरी अखिलेश शुक्ला जी के नाम से है उन दोनों पर क्रमशः माथुर सर और चंद्रा सर इंगेज हैं ।
अब वकीलों का भ्रम दूर कर लीजिए और जिस भी वकील के बारे में आपको जानना हुआ करे उस वकील के मुख्य याची या प्रतिनिधि से आप सीधे प्रश्न कर लिया करो ।

मुख्यमंत्री से टीम की मुलाकात सम्बन्धी ज्ञापन कल या परसो में आपको उपलब्ध करा दिया जाएगा जिसे जिन लोगों से सम्भव हो पाए वो अपने जिले के सांसद और विधायकों से उनके लेटर पेड पर फॉरवर्ड करवाकर मुलाकात का समय दिलाने का प्रयत्न करेंगे निजी तौर पर हम सब भी लखनऊ में ही प्रयासरत हैं ।

जल्द ही आप सबको पूरी याचिका उपलब्ध कराने का प्रयास है जिस से जो सक्षम साथी है पढ़कर और सुझाव दे सकें जिस से लगातार सुधार और मज़बूती आती रहे केस में ।जीत की हर सम्भावना की खोज में टीम लगातार प्रयासरत है ।


जज साहब और बेंच के बारे में ज्योतिषी और भविष्यवक्ता बने साथियों से निवेदन है कि अगर उनके पास उनकी खुद की कही बात का कोई साक्ष्य है तो उपलब्ध कराएं कि इस बेंच के कौन कौन से फैसले सरकार विरोधी आए हैं वरना बेसुरा आलाप बन्द करें और तोपची ने कोई बेंच चेंज ना कराई है उसका कहना था कोर्ट नम्बर तीन में सुनवाई होगी जबकि टीम ने आप सबको सूचित किया था कोर्ट नम्बर 1 में ही सुनवाई होगी और अंत मे हुआ भी उस दिन वही । लेकिन आप सब भी अब कौवा कान ले गया वाली प्रवित्ति (अर्थात ऐसी आदत जिसमे बिना प्रमाण बस लोग कह रहे तो सच होगा की मनोदशा होती है) से जल्द छुटकारा पा लीजिये ।

अंतिम विजय किसकी होगा वह भविष्य के गर्भ में है लेकिन जब तक बूंद मात्र भी सम्भावना होगी उस अंतिम सम्भावना तक लड़ने का जज़्बा सामूहिक रूप से हम सबको आत्मसात करना होगा क्योंकि बेसिक शिक्षा की हर भर्ती इस कोर्ट के दावानल से तपकर ही निकली है और 69000 में चयनित होने वाला हर भावी शिक्षक बेमिशाल और जुझारू रहे यही महादेव से कामना है ।

No comments:

Post a Comment