शिक्षामित्रों का भविष्य सुरक्षित करने के संबंध हेतु

नवीन शिक्षा नीति में शिक्षामित्रों के भविष्य को सुरक्षित करने हेतु

उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षा मित्र संघ सांसदों के माध्यम से एक पहल शुरू करने जा रहा है जिसका शुभारंभ फतेहपुर सीकरी के सांसद माननीय राजकुमार चाहर जी के माध्यम से किया जायेगा |

और यह सिलसिला प्रदेश के 80 सांसदों के माध्यम से भारत सरकार को जाएगा इसके लिए डेट शीघ्र ही तय करके एक अभियान के तहत इसे लिया जाएगा हम भारत सरकार की लागू होने वाली नई शिक्षा नीति में माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार एवं मानव संसान विकास मंत्री भारत सरकार से इस आशय का अनुरोध करेंगे कि शिक्षामित्रों के 18 वर्ष की सेवा को देखते हुए उनको नवीन शिक्षा नीति में अवसर प्रदान किया जाए और वह व्यवस्था दी जाए जिससे उनका भविष्य सुरक्षित एवं संरक्षित हो सके |



आगामी दिनों में यह पुनः अपने मूल पद यानी सहायक अध्यापक पद को प्राप्त करें इसके लिए संघर्ष शुरू किया जा रहा है मै आह्वान करता हूं कि प्रदेश के सभी |शिक्षामित्र भाई बहन अपने अपने स्वार्थ को छोड़कर अपने अपने व्यवस्थाओं को जहां भी हो जिस भी बिंदु पर कोर्ट से व्यक्तिगत रूप से सरकार से प्रशासनिक रूप से लड़ रहे हैं लड़ते हुए इस अभियान में भी सहयोग करें हमें आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि आप सब एक बार फिर पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ इस मुहिम संघर्ष में जुड़ेंगे और हम निश्चित रूप से इस संघर्ष को आगे बढ़ाएंगे और मुझे विस्वास है कि आने वाला दिन सफलता का दिन होगा हम सफल होंगे क्योंकि गिरते हैं शहसवार ही जंगे मैदान में। वो क्या गिरेंगे जो घुटनों के बल चलते हैं ।

No comments:

Post a Comment