सरकारी स्कूल के शिक्षक बनने के लिए क्या जरुरी है, और कैसे बने, यहाँ जानिए

दोस्तों आज कल भारत का हर युवा सरकारी नैकरी करना चाहता है क्योकि भारत में एक ट्रेंड बन गया है की सरकारी नौकरी आसन और इजत की नैकरी होती है इसलिए सरकारी नैकरी को बहुत अहमियत दी जा रही है

बहुत से युवा ग्रेजुँसन के बाद टीचर बनना चाहते है लेकिन उन्हें सही मार्गदर्शन नहीं मिल पता है तो बहुत से प्रॉब्लम को झेलना पड़ता है इसलिए आज मै शिक्षक कैसे बने इसी टोपिक पे बात करने वाली हु |

सरकारी स्कूल के शिक्षक बनने के लिए जरुरी कोर्स 

B.ed – ( Bachelor of education )

टीचिंग में कॅरियर बनाने के लिए ज्यादातर युवा यही रास्ता अपनाते हे क्यों की अगर आप टीचर बनना चाहते हे तो बी.एड. आपके लिए बहुत उपयोगी है बी.एड. करने के लिए अभ्यर्थी को ग्रेजुएशन पास होना जरुरी हे तभी वो बी.एड. के लिए योग्य माना जायेगा साथ ही बी.एड. में प्रवेश लेने से पहले अभ्यर्थी का  प्रवेश परीक्षा लिया जाता हे उसे पास करने के बाद ही अभ्यर्थी बी.एड. में प्रवेश ले सकता हे साथ ही प्रवेश परीक्षा हर साल करवाई जाती हे जो की राज्य स्तरी होती हे उसे पास करने के बाद अभ्यर्थी बी.एड के लिए आवेदन कर सकता हे 2015 में बी.एड. कोर्स की अवधि 2 वर्षो की गयी थी अब 2020 से कोर्स की अवधि 4 वर्षो की हो जाएगी
B.ed. करने के बाद आप Primary, Middle और High School में teacher jobs पा सकते हैं।
शिक्षक बनने के लिए क्या जरुरी है

B.T.C (बेसिक ट्रेनिंग सर्टिफिकेट)

ये कोर्स उत्तर प्रदेश के अभ्यर्थियो के लिए होता हे और इसमें केवल उत्तर प्रदेश के युवा ही भाग ले सकते हे ये कोर्स 2 साल का होता हे और इसमें अभ्यर्थी की अंक के आधार पर दाखिला दिया जाता हे इसमें दाखिला लेने के लिए अभ्यर्थी का ग्रेजुएशन होना जरुरी हे साथ ही उनके उम्र 18 वर्ष से अधिक व 30 वर्ष से कम होनी जरुरी हैं तभी वे इसमें  ले सकेंगे
इस कोर्स को करने के बाद अभ्यर्थी Primary और Middle स्कूल में पढ़ाने योग्य हो जाते हैं

BP.edu ( बैचलर ऑफ़ फिजिकल एजुकेशन )

इस कोर्स को करने के बाद युवाओ के रोजगार के अवसर बहुत अधिक बढ़ जाते हे क्यों की प्राइवेट और सरकरी स्कूलों में हर साल फिजिकल एजुकेशन के लिए हजारो पदों पर भर्तियां निकली जाती हे इसलिए इसमें रोजगार के अवसर ज्यादा होते हे फिजिकल एजुकेशन भी 2 तरह के होते हे 1. ग्रेजुएशन पास के लिए और 2. 12th पास के लिये अगर आप ग्रेजुएशन पास हो और आपका ग्रेजुएशन में फिजिकल सब्जेक्ट था तो आप BP. edu. का 1 साल का कोर्स कर सकते हो और अगर अपने 12th पास किया हे और 12th में फिजिकल सब्जेक्ट था तो आप इसमें 3 साल का ग्रेजुएशन कर के स्कूल टीचर का रोजगार पा सकते हैं।

इसके लिए अभ्यर्थी को  प्रवेश परीक्षा और फिजिकल फिटनेस टेस्ट देना होता है साथ में लिखित परीक्षा भी लिया जाता हे और उसमे पास होने पास इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता हे और आपको इसके लिए इंटरव्यू भी पास करना पड़ता है। बाद मे आप को इसमें आसानी से अच्छा रोजगार मिल जायेगा

N.T.T. ( नर्सरी टीचर ट्रेनिंग )

ये कोर्स 12th पास करने के बाद करवाया जाता हे और बड़े शहरो में इस कोर्स को ज्यादा मान्यता दी जाती हे इसमें 12th के अंक वेश परीक्षा के आधार पर युवाओ को दाखिला  दिया जाता हे ये कोर्स 2 वर्षो का होता है
ये कोर्स करने के बाद आप नर्सरी तक पढ़ाने योग्य माने जाते हैं

JBT (जूनियर टीचर ट्रेनिंग)

जूनियर टीचर ट्रेनिंग कोर्स प्राइमरी टीचर ट्रेनिंग के लिए होता हे और इसके लिए न्यूनतम योग्यता 12th पास राखी गयी हे साथ ही इस कोर्स के लिए कुछ जगह मेरिट के आधार पर एडमिशन दिया जाता हे और कुछ जगह  प्रवेश परीक्षा से दाखिला  दिया जाता है।
जूनियर टीचर ट्रेनिंग कोर्स करने के बाद आप प्राइमरी टीचर बनने के लिए योग्य हो जाते है।

मैंने आपको जो कोर्स बताये हे वो टीचर बनने के लिए जरुरी होते हैं पर आपको अगर सरकरी अध्यापक बनना है तो आपको कुछ परीक्षा भी देनी पड़ेगी उसकी जानकारी में नीचे लिख रहा हु उसमे से कोई भी एक परीक्षा पास करना जरुरी हे तभी आप टीचर की सरकारी नैकरी पा सकते हे

Teacher के लिए जरुरी परीक्षाए

TET (शिक्षक योग्यता परीक्षा )

B.ed किये हुए कोई भी अभ्यर्थी इस परीक्षा में भाग ले सकते हे साथ ही B.ed करने के बाद TET परीक्षा को पास करना जरुरी है। B.ed के वो छात्र भी ये परीक्षा दे सकते हैं जिनका अभी रिजल्ट नहीं आया है। TET का सर्टिफिकेट 5 साल के लिए मान्य है। 5 साल बाद आप वापिस TET परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं और परीक्षा पास करके नया सर्टिफिकेट पा सकते हैं।

CTET (केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा )

केंद्रीय विद्यालय, दिल्ली के सरकरी स्कूल , तिब्बती स्कूल और नवोदय विद्यालय में शिक्षक बनाने के लिए आपको CTET पास करना जरुरी है। यह परीक्षा CBSC के द्वारा करवाई जाती हे और इस परीक्षा में वो ही युवा भाग ले सकते हे जिन्होंनेे B.ed की हुई हो साथ ही इस एग्जाम को पास करने के लिए कम से कम 60% अंक लाना जरुरी है। इस एग्जाम का सर्टिफिकेट 7 साल तक मान्य रहता है। और 7 साल बाद आप दुबारा इसकी परीक्षा दे के नया सर्टिफिकेट पा सकते हो

TGT और PGT

यह परीक्षा स्टेट लेवल पर आयोजित की जाती है मुख्य रूप से U.P. और दिल्ली में यह परीक्षा बहुत लोकप्रिय है भारत में हर स्टेट में यह परीक्षा आयोजित करवाई जाती हे और कोई भी योग्य अभ्यर्थी इसमें आवेदन कर सकते है TGT के लिए स्नातक और B.ed पास होना जरुरी है। और PGT के लिए स्नातकोत्तर और B.ed होना जरुरी है। TGT पास टीचर 6 कक्षा से 10th तक पढ़ा सकते है। PGT के टीचर 10th से 12th कक्षा तक पढ़ा सकते है।

UGC NET

अगर आप किसी कालेज में लेक्चरर बनना चाहते हे तो आपको ये परीक्षा पास करनी जरुरी हे ये परीक्षा पास करने के बाद आपको किसी भी स्कूल में लेक्चरर का पद मिल सकता हे ये परीक्षा साल में 2 बार आयोजित की जाती हे एक बार दिसंबर और एक बार जून मे।

अगर आप किसी कालेज में लेक्चरर बनना चाहते हे तो आपको ये परीक्षा पास करनी जरुरी हे ये परीक्षा पास करने के बाद आपको किसी भी स्कूल में लेक्चरर का पद मिल सकता हे ये परीक्षा साल में 2 बार आयोजित की जाती हे एक बार दिसंबर और एक बार जून मे।

No comments:

Post a Comment