बीएड और बीटीसी अभ्यर्थियों की बढ़ी मुश्किलें

बीएड और बीटीसी अभ्यर्थियों की बढ़ी मुश्किलें, उपस्थिति न होने पर भी उपस्थिति दर्ज

अभी तक बीएड और बीटीसी कर रहे अभ्यर्थी काॅलेज से साठगांठ कर उपस्थिति न होने पर भी उपस्थिति दर्ज करवाकर परीक्षा में शामिल हो जाते थें, लेकिन अब राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) के इस नियम के आगे उनकी दाल गलने वाली नहीं है।

देश और प्रदेश में संचालित हो रहे बीएड, बीटीसी, डीएलएड व एमएड जैसे कोर्सेज में उपस्थिति को लेकर एनसीटीई को लगातार मिल रही शिकायतों के बाद एनसीटीई ने कड़ा रुख अपनाते हुए सभी शिक्षण संस्थानों को यह निर्देश दिया है कि, वह अपने यहां 30 दिन के अंदर बायोमिट्रिक उपस्थिति की व्यवस्था अनिवार्य रुप से करें।
बीटीसी अभ्यर्थियों की बढ़ी मुश्किलें

इतना ही नहीं एनसीटीई ने सभी शिक्षण संस्थानों को यह भी कहा है कि, उन्हें अपनी उपस्थिति का ब्योरा हर सप्ताह अपनी वेबसाइट पर अनिवार्य रुप से अपलोड करना पड़ेगा, जिसकी निगरानी एनसीटीई की स्पेशल टीम करेगी। यदि वे ऐसा नहीं करते हैं तो उनके विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जाएगी।

एनसीटीई के इस आदेश से उम्मीद की जा रही है कि, छात्रों का काॅलेजों के साथ साठगांठ कम होगा और शिक्षा की गुणवत्ता में वृद्धि होगी। अभी तक जो विद्यार्थी साठगांठ से काम चला लेते थे अब उन्हें अनिवार्य रुप से काॅलेज में प्रतिदिन उपस्थित होना पड़ेगा।