सीबीएसई प्रश्नपत्र लिक मामला - इस बार पेपर ज्यादा सुरक्षित

सीबीएसई प्रश्नपत्र लिक मामला

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) परीक्षाओं में पारदर्शिता के लिए इंक्रीप्टेड प्रश्नपत्रों की संख्या बढ़ाएगा। हालांकि, आगामी परीक्षा में भी उन्हीं विषयों के प्रश्नपत्रों की संख्या में बढ़ोतरी की जाएगी, जिसमें विद्यार्थियों की संख्या बहुत अधिक नहीं है।

इंक्रीप्टेड प्रश्नपत्रों को पिछले वर्ष पेपर लीक को रोकने के लिए लाया गया था। ऐसे प्रश्नपत्र सीधे परीक्षा सेंटर पर मेल के माध्यम से भेजे जाते हैं। वहीं उन्हें कोड के माध्यम से खोलकर प्रिंट किया जाता है और छात्रों में बांटा जाता है।

बोर्ड के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने बताया कि बोर्ड परीक्षा के दौरान इंक्रीप्टेड प्रश्नपत्रों को लागू करने का प्रयोग सफल रहा था। आगामी बोर्ड परीक्षा में हम इस तरह के प्रश्नपत्रों की संख्या और बढ़ाने जा रहे हैं। यह संख्या 25 तक हो सकती है।