दिल्‍ली में सिंगल यूज प्‍लास्टिक मुक्‍त पहली यूनिवर्सिटी बनी IGNOU

दिल्‍ली में सिंगल यूज प्‍लास्टिक मुक्‍त

इंदिरा गांधी ओपन यूनिवर्सिटी (IGNOU) दिल्ली की पहली सिंगल यूज प्लास्टिक (Single Use Plastic) मुक्त यूनिवर्सिटी बन गई है. इसकी घोषणा दक्षिणी दिल्ली नगर निगम (SDMC) ने की. महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर इग्नू के वाइस चांसलर प्रोफेसर नागेश्वर राव ने सभी शिक्षकों और यूनिवर्सिटी (IGNOU) में काम करने वाले लोगों से सिंगल यूज प्लास्टिक (Single Use Plastic) का इस्तेमाल न करने का अनुरोध किया. नागेश्वर राव ने कहा कि यह देश को सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त बनाने के लिए प्रधानमंत्री के आह्वान का एक कदम है. वहीं, इग्नू ने 30 सितंबर को पॉलिथीन बैग, थर्मोकोल प्लेट और कप, प्लास्टिक के चम्मच जैसे प्लास्टिक के सामान को परिसर से दूर रखने के लिए दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के साथ एमओयू साइन किया. IGNOU के फैकल्टी मेंबर्स और कर्मचारियों ने सिंगल यूज प्लास्टिक को खत्म करने और इग्नू परिसर को प्लास्टिक मुक्त बनाने का संकल्प भी लिया.

इग्नू की लाइफ साइंसेज की प्रोफेसर नीरा कपूर ने NDTV Khabar से बातचीत में कहा, ''SDMC ने इग्नू को दिल्ली की पहला सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त विश्वविद्यालय घोषित किया है. 30 तारीख को सभी शिक्षकों ने संकल्प लिया कि वे सिंगल यूज प्लास्टिक से बने प्रोडक्स का इस्तेमाल नहीं करेंगे. इग्नू दिल्ली कैपस के साथ ही IGNOU के रीजनल सेंटर्स को सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त बनान का काम कर रहा है. 30 तारीख को हुआ कायक्रम इग्नू के सभी रीजनल सेंटर्स में ब्राडकास्ट किया गया था. साथ ही इग्नू ने सभी रीजनल सेंटर्स को ये निर्देश भी दिए हैं कि सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल न हो और स्टूडेंट्स को इसका करने से रोका जाए.''