सरकारी स्कूलों में 46% स्वेटर ही पहुंच पाए, बाकि बच्चे ठिठुर रहे ठंडी में