69000 शिक्षक भर्ती: आज (6 Nov) का कोर्ट रूम का कम्प्लीट रिपोर्ट पढ़े और Audio में भी सुने

69000 शिक्षक भर्ती पासिंग मार्क केस की सुनवाई डेली काज लिस्ट 2 नंबर पर सुनिश्चित थी। परन्तु कोर्ट के द्वारा सर्वप्रथम सेप्लीमेंट्री केस टेक अप हुआ जो केस वरिष्ठ अधिवक्ता डा एल पी मिश्रा जी का ही था ।

डा साहब ने मा जजो से 69000 शिक्षक भर्ती केस की सुनवाई के बारे मे पूछा। हम सुनवाई को तैयार है कोर्ट से कहा कि आप समय बताये। कोर्ट ने मिश्रा जी से कहा विपक्ष की सुनवाई हमने और मा इरशाद साहब ने सुना है रोस्टर चेंज होने के कारण आज आलोक माथुर साहब है। जब कि सुनवाई मा इरशाद साहब को ही करनी चाहिए इस पर डा साहब ने कोर्ट अवगत कराते हुये कहा कि आप यथाशीघ्र स्पेशल पार्ट हर्ट बेंच गठित करने की मांग की तथा इस पर दोनो जज साहब ने स्वीकृति प्रदान करते हुये एक प्रार्थना पत्र दोनो पक्षो से देने को कहा ।

डा एल पी मिश्रा जी ने जज साहब की बात मानते हुये प्रार्थना पत्र देने की स्वीकृति प्रदान की और मा पंकज जायसवाल जी से निवेदन किया आप इसे पार्ट हर्ड बेंच बनवाकर लगातार सुनवाई सुनिश्चित करे। जिसपर जज साहब ने पुनः स्वीकृति प्रदान किया ।

डा साहब ने बताया कि स्पेशल बेंच गठित करने का अधिकार मा चीफ जस्टिस को है जो कि कोर्ट प्रोसेडिंग का हिस्सा है कोर्ट गठित करने के बाद अगली डेट मा न्यायलय द्वारा लगायी जायेगी।

आज अपना केस 10.15 पर टेक अप होते हुये कोर्ट रुम मे मात्र बलराम बाजपेयी रामशरण मौर्य राज कुमार मिश्रा ही उपस्थित थे। इसके बाद जो भी पोस्टे लोगो द्वारा डाली गयी है मात्र फर्जी है।

नोट-शिक्षामित्र साथियो से विनम्र निवेदन है कि किसी भी जस्टिस पर टिप्पणी करने से बचे क्यो डा साहब ने इसके लिया मना किया है अयोध्या मैटर पर निर्णय आने के कारण सरकार द्वारा सोशल मिडिया को विशेष रुप से वाच किया जा रहा है।

अन्त मे हम सभी लोग डा एल पी मिश्रा साहब से आशीर्वाद लेकर अपने घरो को प्रस्थान कर चुके है।

रिज़वान अंसारी की तरफ से अपडेट- 

आज 69000 शिक्षक भर्ती पासिंग मॉर्क केस शुरुवात में ही 02 नम्बर पर लिस्टेड था। पक्षकार और विपक्ष के अधिवक्ता कोर्ट रूम में मौजूद थे। पक्ष के अधिवक्ताओं ने कोर्ट के अवगत कराया कि पासिंग मॉर्क केस "पार्ट-हर्ड बेंच" में है। जिसकी आधी प्रोसीडिंग लगभग समाप्त हो चुकी है। इसलिए अब इस मामले के लिए अलग से "पार्ट-हर्ड बेंच" गठित की जानी चाहिए।

कोर्ट को ये बात समझ मे आ गई और उसने सामूहिक प्रे को एक्सेप्ट करते हुए 13 नवम्बर को "पार्ट-हर्ड बेंच" गठन के निर्देश दिए। जिसमे मा0 जस्टिस पंकज जायसवाल और मा0 जस्टिस इरशाद अली होंगे। ये स्पेशल बेंच सिर्फ 69000 शिक्षक भर्ती पासिंग मॉर्क केस के लिए ही बनाई गई है। कोर्ट ने कहा कि इस केस को अब ज्यादा समय तक पेंडिंग नही रखा जाएगा। केस अगले सप्ताह फाइनल हो जाएगा। इंतज़ार की घड़ियां समाप्त हुईं। audio में सुनने के लिए निचे लिंक पे क्लिक करे |


69000 शिक्षक भर्ती: आज (6 Nov) का कोर्ट रूम का कम्प्लीट रिपोर्ट पढ़े